दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना का शुभारंभ, जानिए कितने राज्यों में बनेंगे वेलनेस सेंटर

0
60

नई दिल्ली: अंबेडकर जयंती के मौके पर मोदी सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी ‘आयुष्मान भारत’ योजना के तहत पहला हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर शनिवार को छत्तीसगढ़ के बीजापुर से शुरू कर दिया गया है। कार्यक्रम की शुरूआत से पहले पीएम मोदी ने आदिवासी महिला को खुद अपने हाथों से चप्पल पहनाई।

देशभर में साल 2022 तक एक लाख 50 हजार हेल्थ सब सेंटर को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में बदला जाएगा। इसी वित्त वर्ष में 18 हजार 840 हेल्थ सब सेंटर को वेलनेस सेंटर में बदला जाना है। इसके लिए केंद्र सरकार ने अलग से 1200 करोड़ रु. के बजट का प्रावधान किया है।  आपको बता दें छतीसगढ़ में साल के अंत में चुनाव होने है। यह पहल अगर कामयाब हुई तो बीजेपी को इससे बड़ा फायदा होगा।

बीजापुर को क्यों चुना…
बीजापुर नक्सलवाद प्रभावित आदिवासी इलाका है। यह जिला नीति आयोग द्वारा चुने गए देश के सबसे 101 पिछड़े जिलों में आता है। पीएम मोदी ने जिलाधिकारियों के सम्मेलन में कहा था कि जो पिछड़ा जिला बेहतर प्रदर्शन करेगा, वे आंबेडकर जयंती पर उन जिलों का दौरा करेंगे। सियासी वजह- इस साल 5 राज्यों में चुनाव हैं। अगले साल आम चुनाव भी हैं। केंद्र इस प्रोजेक्ट को सबसे बड़ी सफलता दिखाना चाहता है। आयुष्मान भारत से 40% गरीबों को इस योजना का लाभ मिलेगा।

mmodi750_1523694527_618x347

किन राज्यों में कितने वेलनेस सेंटर-
बीजापुर के बाद सरकार दूसरा वेलनेस सेंटर कब और कहां खोलने जा रही है। इसकी कोई जानकारी नहीं लेकिन फिलहाल कुछ राज्यों की सूची मिली है जिनमें कहां और कितने वेलनेस सेंटर खोले जाने की बात कही गई है।

बिहार 643 

छत्तीसगढ़ 1000
गुजरात 1185
हरियाणा 255
राजस्थान 505
झारखंड 646
मध्य प्रदेश 700
महाराष्ट्र 1450
पंजाब 800

हेल्थ वेलनेस सेंटर क्या है: बजट में आयुष्मान भारत की घोषणा की गई है। इसके दो कंपोनेट हैं। पहला 10.74 लाख परिवारों को 5 लाख रु. का स्वास्थ्य बीमा मुफ्त। दूसरा, हेल्थ वेलनेस सेंटर जिसमें देश के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अपडेट होंगे। इन सेंटर में छोटी बीमारियों का इलाज होगा। दवाएं फ्री मिलेंगी।

कितनी बीमारियों का इलाज होगा: हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर 12 तरह की स्वास्थ्य सुविधा होगी। यहां इलाज के साथ जांच की भी सुविधा भी होगी। जिला अस्पताल में मरीज को जो दवा लिखी जाएगी, वह दवा मरीज को उसके घर के पास हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में उपलब्ध हो, इस पर भी काम चल रहा है।

गंभीर बीमारियों पर कैसे मिलेगा उपचार: जांच में जिन लोगों में बीमारियों के लक्षण पाए जाएंगे, उन्हें तत्काल जिला अस्पताल या बड़े अस्पताल रेफर किया जाएगा। वेलनेस सेंटर में ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और 3 तरह के कैंसर ओरल, ब्रेस्ट, सर्विक्स कैंसर की जांच होगी।

कौनसी बीमारियों की जांच होगी: मैटरनल हेल्थ और डिलीवरी की सुविधा, नवजात और बच्चों के स्वास्थ्य, कॉन्ट्रासेप्टिव सुविधा और संक्रामक, किशोर स्वास्थ्य, गैर संक्रामक रोगों के प्रबंधन की सुविधा, आंख-नाक-कान व गले से संबंधित बीमारी के इलाज की अलग से यूनिट होगी। बुजुर्गों का भी इलाज हो सकेगा।

ये भी पढ़ें:

रूचि के अनुसार खबरें पढ़ने के लिए यहां किल्क कीजिए

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर। आप हमें फेसबुकट्विटर और यूट्यूब पर फॉलो भी करें

Comments

comments