अब स्कर्ट पहनकर लड़के भी जायेंगे स्कूल, यह है इस बदलाव का कारण

0
130

कैसा रहेगा जब लड़के और लड़कियां एक जैसी पोशाक पहनकर स्कूल-कॉलेज पहुंचेगे। जी हां अब ऐसी खबर आई एक नामी बोर्डिंग स्कूल से। जहां के अध्यपकों ने लैंगिग भेदभाव बच्चों के मन से निकालने के लिए एक अनोखा कदम उठाया है।

स्कूल प्रशासन द्वारा मीडिया को बताई गई खबर के अनुसार, अगर कोई लड़का स्कूल में स्कर्ट पहन कर आना चाहता है, तो उसे यह अधिकार दिया जायेगा। दरअसल, ब्रिटेन के बड़े बोर्डिंग स्कूल्स में शुमार ‘अपिंघम’ के प्रशासन ने यह कदम लैंगिक भेदभाव कम करने के मकसद से उठाया है। इस स्कूल की स्थापना 1584 में हुई थी। बताया जाता है कि इस स्कूल में पढ़ने वाले हर बच्चे की फीस भारतीय करेंसी के अनुसार लगभग 33 लाख रुपये सालाना है। आज यहां लड़के-लड़कियां सभी साथ-साथ पढ़ते हैं।

ब्रिटेन के अखबार ‘टेलीग्राफ डॉट यूके’ के मुताबिक यह फैसला लैंगिक भेदभाव खत्म करने के लिए किया गया है। बताया जा रहा है कि स्कूल प्रशासन इस तरह के फैसले पहले भी ले चुका है। लैंगिक भेदभाव को खत्म करने के लिए स्कूल में छात्र-छात्रा को प्यूपिल कह कर बुलाया जाता है। इस फैसले के बाद अपिंघम स्कूल के हेडमास्टर रिचर्ड मैलनी ने कहा, मैं उम्मीद करता हूं कि प्यूपिल मेरे पास आकर कहें कि मैं स्कर्ट पहनना चाहता हूं, तो मुझे खुशी होगी।

ये भी पढ़ें: कॉमन वेल्थ गेम्स ( CWG 2018 ) : भारत एक नज़र, ये है हमारे अब तक के विजेता

वहीं, अपिंघम स्कूल में पहले पढ़ चुके लोगों ने भी स्कूल के इस फैसले की सराहना की है। उनका कहना है कि जेंडर न्यूट्रल यूनिफॉर्म भेदभाव खत्म करने में सहायता मिलेगी। अगर हमें स्कर्ट पहनने की इजाजत होती तो हम वही पहनना पसंद करते।

ये भी पढ़ें:

रूचि के अनुसार खबरें पढ़ने के लिए यहां किल्क कीजिए

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर। आप हमें फेसबुकट्विटर और यूट्यूब पर फॉलो भी करें

Comments

comments