सावधान: घर की साफ-सफाई महिलाओं को दे रही है ये गंभीर बीमारी

0
99

लाइफस्टाइल डेस्क: घर की साफ-सफाई की जिम्मेदारी महिलाओं या लड़कियों की होती। खासकर भारत में ये जिम्मेदारी मूल रूप से महिलाओं के हक में आई हुई लेकिन अब जो हम बताने जा रहे हैं उसके बाद आपको सावधान होने की जरूरत है। दरअसल एक रिसर्च सामने आयी है। जिसमें कहा गया है कि जो महिलाएं अपने घर का काम जैसे साफ-सफाई करती है उन्हें फेफड़ों सम्बधी बीमारी होने की शिकायत ज्यादा होती है।

नॉर्वे स्‍थ‍ित यूनिवर्सिटी ऑफ बर्जन की हालिया अध्‍ययन रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया है। अध्‍ययन की रिपोर्ट के अनुसार घर की साफ-सफाई महिलाओं के फेफड़ों पर एक साथ 20 सिगरेट पीने जितना असर करता है। इससे उनमें सांस से संबंधित बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

वहीं, रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि घर की साफ-सफाई करने वाले पुरुषों के फेफड़ों पर महिलाओं की तुलना में कम असर होता है। यह अध्‍ययन 6235 महिलाओं और पुरुषों पर किया गया है। जिसमें इतनी चौंकाने वाली बात सामने आई है।

क्यों बढ़ रहा है महिलाओं को ये खतरा-
शोधकर्ताओं के अनुसार सफाई के लिए उपयोग होने वाले उत्‍पादों में मौजूद कैमिकल के कारण महिलाओं में सांस संबंधित बीमारियां मसलन, अस्‍थमा आदि की आशंका बढ़ जाती है। यहां तक कि विशेषज्ञों का दावा है कि सफाई के लिए ज्‍यादा कैमिकल का इस्‍तेमाल करने वाली महिलाओं का एयरवेज हर दिन धीरे-धीरे क्षतिग्रस्‍त होता रहता है।

आपके घर में इन चीजों में कैमिकल्स-सावधान

बाथरूम में टाइल क्लीनर-
घर में सबसे ज्यादा साफ-सफार्इ की जरुरत बाथरूम में होती है। बाथरूम को साफ करने के लिए हम सभी बहुत से हाईड्रोक्‍लोरिक, एसिड अौर केमिकल अादि का उपयोग करते है। अापके बता दें कि इन सब के उपयोग से अापको अस्थमा की दिक्कत हो सकती है और अापको लीवर भी डैमेज कर सकते हैं। इस लिए अाप इसे साफ करने के लिए सिरका, वॉशिंग सोडा या बोरॉक्स का प्रयोग कर सकते है।

क्लीनर और सोप-
क्लीनर में ऐसे बहुत से रसायन पाए जाते है जो कि प्रतिरक्षा प्रणाली, प्रजनन शक्ति को कमजोर करता है। उसकी जगह पर आप साधारण साबुन या एंटीबैक्‍टीरियल सोप से ही हाथ धो सकते है।

एयर फ्रेशनर-
घर को महकाने के लिए जिस रूम फ्रेशनर का इस्तेमाल करते हैं वह हमारे लिए अच्छे नही होते है। इसका उपयोग करने से हमें एलर्जी, त्वचा रोग, म्यूकस मेंबरेन में जलन, जोड़ो और सीने मे दर्द पैदा हो सकता है। एेसे मे अाप घर में फ्रेश हवा को अंदर लाने के लिए दरवाजों व खिड़कियां खोल कर रखें। अगर अाप घर को महकाना चाहती है तो अाप फूलों का इस्तेमाल भी कर सकती है।

डिशवॉशर-
घर में बर्तनों को साफ करने के लिए जिस डिशवॉशर का हम उपयोग करते है अगर वह सूखा है तो उसका प्रयोग न करें क्योंकि इसे हमारी आंखों में तकलीफ, त्वचा में जलन और खुजली होनी शुरु हो जाती है।

रूचि के अनुसार खबरें पढ़ने के लिए यहां किल्क कीजिए

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर। आप हमें फेसबुकट्विटर और यूट्यूब पर फॉलो भी करें)

Comments

comments